Header Ads

बुरहानपुर जिले में करीब 750 आंगनवाड़ी केंद्र है जिनके समस्त कार्यकर्ता और सहायिका लामबंद होकर रैली निकालने को हुए मजबूर


लामबंद,बुरहानपुर जिले में करीब 750 आंगनवाड़ी केंद्र है जिनके समस्त कार्यकर्ता और सहायिका लामबंद होकर रैली निकालने को हुए मजबूर,

रैली तहसील कार्यालय से निकलकर शहर के प्रमुख स्थानों से होती हुई कलेक्टोरेट पहुचेंगी जहां धरना प्रदर्शन होगा और 6 दिनों तक कलेक्टोरेट मैं धरना प्रदर्शन करेंगे उसके पश्चात भी यदि मांगे नहीं मानी गई तो करेंगे अनिश्चितकालीन हड़ताल ।

वॉइस ओवर01: वर्ष 2023 चुनावी वर्ष होने के कारण सारे विभागों के कर्मचारी हड़ताल करने को मजबूर है ,पहले बिजली कर्मचारियों की हड़ताल और आब साथ में महिला बाल विकास के सहायिका और कार्यकर्ता की रैली और धरना प्रदर्शन ,यह जता रहा है कि कहीं ना कहीं प्रदेश और जिले के कर्मचारी सरकार से नाराज है ,इसलिए अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं महिला बाल विकास विभाग की सहायिका- कार्यकर्ताओं ने अभी ऐलान कर दिया है कि 6 दिनों तक कलेक्ट्रेट में धरना देने के पश्चात भी यदि उनकी मांगे नहीं मानी जाती है तो अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे जिससे आंगनवाड़ी के मासूमों की फजीहत हो जाएगी ,अब देखना होगा कि क्या इन महिला बाल विकास विभाग के महिलाओं को शासन-प्रशासन आश्वासन देकर मना लेगा या फिर एक बार यहां महिलाएं अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएगी ?

बाइट : अनामिका जोशी,आंगनवाड़ी कार्यकर्ता

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.