Header Ads

डॉ जाकिर हुसैन ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन में मातृभाषा सेमिनार आयोजित

बुरहानपुर: सेमिनार हॉल में डॉक्टर ज़ाकिर हुसैन शिक्षा महाविद्यालय  के तत्वावधान में " अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस समारोह"  को मनाया गया।  जिसमें डॉ जाकिर हुसैन अकैडमी,  डी .एड. विभाग ,  मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी स्टडी सेंटर,  काबा एवं आई. ए. एस हायर सेकेंडरी स्कूल के प्रतिभागियों ने संयुक्त रुप से भाग लिया।
 कार्यक्रम की विभिन्न विधाएं जैसे :- गीत, गजल, कविता गायन , निबंध लेखन एवं भाषण की प्रस्तुति  का विषय: 
" शिक्षा के क्षेत्र में मातृभाषा की उपयोगिता" पर कार्यक्रम को बहुत ही उच्च स्तर  की प्रस्तुतियों से शोभनीय बनाया गया।
 समारोह की अध्यक्षता करते हुए संस्था के डायरेक्टर डॉ वीरेंद्र सिंह स्वर्णकार " निर्झर"  सर ने शिक्षा  की देवी मां सरस्वती  को पुष्पहार एवं दीप प्रज्वलन करके कार्यक्रम को प्रारंभ किया।
 प्रतिभागियों में अजय दहिभाते बी एड फर्स्ट सेम एवं नाजिया नाजिया बी, बी ए फर्स्ट ईयर चेतना चंदेल B.Ed प्रशिक्षणार्थी ने सुमधुर गीतों से कार्यक्रम को प्रभावी बनाया, नसीम बानो बीएससी थर्ड सेम थर्ड ईयर उर्दू गजल की प्रस्तुति से कार्यक्रम में समा बांध दिया ।
 जिसके शब्द है "हिंदी है बेटी तो उर्दू ने पाला है, हिंदी हैं रोटी तो उर्दू निवाला है......
 चेतना चंदेल मैडम ने
" सुरस सुमेधा अमृतवाणी संस्कृत भाषा.....
 तथा नाजिया बी ने
" प्यारी मां मुझको तेरी दुआ चाहिए ,तेरे आंचल की ठंडी हवा चाहिए .......
ग़ज़ल की प्रस्तुति से पाठको  एवं श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया ।
विभाग के वरिष्ठ व्याख्याता श्री गजानन गायकवाड ( D.El.Ed) विभाग  ने शिक्षा में मातृभाषा की आवश्यकता को बताया।
 श्री योगेश्वर महाजन सर प्राध्यापक एवं डीसीए विभाग अध्यक्ष ने अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा के उदगम एवं प्रवाह पर प्रकाश डाला।
 शिक्षा महाविद्यालय के विभाग अध्यक्ष डॉक्टर शकील अहमद अंसारी सर ने मातृभाषा में शिक्षा की अनिवार्यता एवं नई शिक्षा प्रणाली में इसकी उपयोगिता को प्रभावी ढंग से समझाया और प्रशिक्षणार्थियों को इसे अपनाने की प्रेरणा दी।
 समारोह की अध्यक्षता करते हुए डॉ वीरेंद्र सिंह स्वर्णकार निर्झर सर ने "अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस"  की उपादेयता एवं परिपूर्णता पर  परस्पर समीक्षा की एवं शिक्षकों को मातृभाषा के बढ़ावे के प्रयास में अपने योगदान हेतु प्रेरित किया।
 संस्थान की  समन्वयक महोदया  तस्लीम मैडम डॉ जाकिर हुसैन एजुकेशनल एंड कल्चरल सोसायटी बुरहानपुर ने  पूरे कार्यक्रम का  अवलोकन किया ।
 समारोह संचालन का दायित्व निभाते हुए सुश्री सुनीता चौकसे मैडम( प्राध्यापक ) ने पूरे कार्यक्रम को समय-समय पर गति और प्रेरणा प्रदान की जिससे कार्यक्रम में निरंतरता को बनाये रखा ,उनके  उत्साही संचालन ने प्रतिभागियों में उत्साह बनाये रखा।
  कार्यक्रम के सफल आयोजन  प्रभार लेते हुए  y.s. दुबे सर (प्राध्यापक)  बी एड विभाग के द्वारा  समस्त विद्यार्थियों व्याख्याताओं, प्राध्यापकों, के साथ साथ विभाग अध्यक्षों के कुशल मार्गदर्शन हेतु आभार व्यक्त किया मीडिया प्रभारी की सराहनीय साझा भूमिका के प्रति भी आभार व्यक्त किया।कार्यक्रम के अंतिम चरण में शिक्षा के राष्ट्रीय प्रतीक के रूप में समर्पण व्यक्त करते हुए ,कार्यक्रम के समापन से पूर्व  राष्ट्रगान का गायन किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.